News

छोड़ के जात बाड़े जान’ गाना में फूट – फूट कर रोईं अक्षरा सिंह, तो वायरल हुआ गाना

छोड़ के जात बाड़े जान’ गाना में फूट – फूट कर रोईं अक्षरा सिंह, तो वायरल हुआ गाना  भोजपुरी की सिंगर – एक्टर अक्षरा सिंह का एक और गाना ‘छोड़ के जात बाड़े जान’ खूब वायरल हो रहा है। इस गाने में अक्षरा सिंह पहली बार फूट – फूट कर रोती नज़र आ रहीं। ‘पहला […]

छोड़ के जात बाड़े जान’ गाना में फूट – फूट कर रोईं अक्षरा सिंह, तो वायरल हुआ गाना 


भोजपुरी की सिंगर – एक्टर अक्षरा सिंह का एक और गाना ‘छोड़ के जात बाड़े जान’ खूब वायरल हो रहा है। इस गाने में अक्षरा सिंह पहली बार फूट – फूट कर रोती नज़र आ रहीं। ‘पहला फागुन अक्षरा के’ अलबम के इस गाने को वेब म्यूजिक ने अपने यूट्यूब चैनल पर 11 फरवरी को रिलीज किया था। अभी इसके 24 घंटे भी पूरे नहीं हुए हैं और इस गाने को अब तक 1,110,700 बार देख जा चुका है। इस गाने को खुद अक्षरा सिंह ने गाया है और इसमें वे खुद ही परफॉर्म करती नज़र भी आ रही हैं।

दरअसल, इस गाने का थीम होली से जुड़ा ही है। ‘छोड़ के जात बाड़े जान’ में एक लड़की अपने महबूबा से होली के बहाने अंतिम बार मिलने की गुजारिश कर रही होती है। इस गाने में उस लड़की का किरदार खुद अक्षरा सिंह ही प्ले कर रही हैं। इसका लिरिक्स मनोज मतलबी ने लिखा है और म्यूजिक डायरेक्टर अविनाश झा घुंघरू हैं। अविनाश ने अपनी शानदार म्यूजिक से इस गाने को और भी खूबसूरत बना दिया है। उस पर अक्षरा सिंह की जादू वाली आवाज ने श्रोताओं को एक बार फिर से दीवाना बना दिया है। मेलोडी मैक्स में इस गाने को तैयार किया गया है, जो 24 घंटे में बहुत तेजी से वायरल हुआ।

इसमें कोई दो राय नहीं कि इन दिनों अक्षरा सिंह का जलवा लोगों पर सर चढ़ कर बोल रहा है, तभी तो उनका कोई भी गाना रिलीज होते ही मिलियन व्यूज की श्रेणी में बेहद कम समय में आ जाता है। अक्षरा सिंह इंडस्ट्री की एक मात्र वाहिद कलाकार हैं, जिनकी फॉलोवर्स की संख्या काफी तेजी से बढ़ी है। सोशल मीडिया से लेकर डिजिटल वर्ल्ड और आम जन साधारण में सबसे ज्यादा सुनी और देखी जानी वाली एक्ट्रेस – सिंगर भी अक्षरा सिंह बन चुकी हैं। उनके नजदीक इंडस्ट्री की कोई फीमेल कलाकार नहीं है। ऐसे में उनका यह वायरल गाना ‘छोड़ के जात बाड़े जान’, उनकी सफलता की एक और कहानी कहती है। आपने नहीं सुना तो, जरूर सुनें। आपको भी रोना आ जायेगा। यह सब जानकारी प्रचारक संजय भूषण पटियाला ने दी !

About the author

martin

Add Comment

Click here to post a comment