Entertainment

डांस पिरेशन अकादमी का सांवन मिलन संपन्न , पुष्पा बनीं सावन क्वीन

डांस पिरेशन अकादमी का सांवन मिलन संपन्न , पुष्पा बनीं सावन क्वीन

डांस पिरेशन अकादमी का सांवन मिलन संपन्न , पुष्पा बनीं सावन क्वीन

पटना 11 अगस्त डासिंग इंस्टीच्यूट डांस पिरेशन अकादमी की ओर से राजधानी पटना में आयोजित सावन मिलन कार्यक्रम में मिसेज पुष्पा सावन क्वीन बनायी गयी हैं।

राजधानी पटना के कंकड़बाग स्थित डांस पिरेशन अकादमी में सावन मिलन कार्यक्रम आयोजन किया गया। कार्यक्रम की थीम “ग्रो ग्रीन” रखी गयी थी।कार्यक्रम का आयोजन श्रीमती तनु प्रकाश और श्री संजीव कुमार ने संयुक्त रूप से किया था। जज के तौर जानी मानी नृत्यांगना और अभिनेत्री निहारिका कृष्णा अखौरी मौजूद थी जिन्होने प्रतिभागियों की प्रतिभा को परखा और विजेताओं को क्राउन पहनाकर सम्मानित किया ।

कार्यक्रम में रैंप शो , म्यूजिकल चेयर , सवाल-जवाब और गेम्स रखे गये थे। इस कार्यक्रम में इंस्टीच्यूट की 30 महिलाओं और बच्चों ने शिरकत की। मिसेज पुष्पा सावन क्वीन बनायी गयीं जबकि सेकेंड रनर अप का ताज मिसेज गुंजा श्री और तीसरे नंबर पर श्रीमती बबीता सिन्हा रहीं। बेस्ट कास्टयूम का पुरस्कार मिसेज सिंधू , बेस्ट एक्टिव पर्सन श्रीमती प्रीति , म्यूजिकल चेयर राउंड की विजेता श्रीमती नीलिमा प्रकाश बनायी गयीं।बेस्ट रैंप वाक मिसेज मुन्नी देवी ने किया। सौम्यता के लिये मिसेज गीता और मिसेज मन्ना सम्मानित की गयीं। बच्चों में सृष्टि , ज्योति , क्षितिज आनंद , सारिका,भानु प्रकाश और स्नेह को सम्मानित किया गया।

डांस पिरेशन अकादमी की निदेशक श्रीमती तनु प्रकाश ने बताया कि सावन माह में महिलाएं खास तौर पर हरे रंग का परिधान पहनती हैं। साथ ही पूरी तरह से सज-धज कर रहती हैं। हिंदू धर्म में ऐसी मानयता है कि सावन के महीने में भगवान भोलेनाथ की उपासना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती है।

सावन सारे भारतीयों के लिए बहुत ही पवित्र उत्सव है जिसमें भगवान शिव की पूजा अर्चना की जाती है। सावन में इन्द्र देवता के द्वारा की गई बारिश से पूरा संसार हरा-भरा हो जाता है तथा पर्यावरण तरोताजा हो जाता है। सावन महीनें में मेहँदी लगाने की एक और धार्मिक मान्यता है।
कार्यक्रम की जज निहारिका ने बताया कि पौराणिक कथाओं के अनुसार श्रावण मास में सप्तमी के दिन माँ दुर्गा की सुहागन महिलाओं द्वारा पूजा अर्चना की जाती है। जिसमें विशेष रूप से माता को मेहँदी,गुड़,चना चढ़ाया जाता है। जिसे प्रसाद स्वरूप घर के सभी सदस्य ग्रहण करते है। और हाथों पर मेहँदी लगाते हैं।

सावन महीनें में मेहँदी लगाना शुभ होता है।सवान माह मे लोग बड़े ही उत्साह के साथ बाबा धाम कांवर लेकर जाते हैं। इस माह में महिलायें हरी हरी साड़िया और हरी-हरी चूड़िया पहनती है।पृथ्वी भी हरी-हरी सी दिखने लगती है , ऐसा लगता है हमारा संसार दुल्हन की तरह सज गया है। डांस पिरेशन अकादमी के निदेशक श्री संजीव कुमार ने बताया कि घटते जंगल से हरियाली दिनों-दिन गायब होती जा रही है जिसके कारण
प्राकृतिक समस्याओं का सामना मानवजाति को विशेष रूप से करना पड़ रहा है। उन्होने कहा पेड़ हमारे लिए और पर्यावरण के लिए बहुत ही जरूरी है। आज जल संकट और पृथ्वी के बढ़ता तापमान को रोकने के लिए पाैधरोपण बहुत आवश्यक है। उन्होने लोगो से अधिक से अधिक पौधारोपण करने की अपील की।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top