बिहार में उद्योग और कला के विकास की असीम संभावना : कुमार प्रभंजन

BHOJPURI MEDIA

ANKIT PIYUSH (https://www.facebook.com/ankit.piyush18

 

बिहार में उद्योग और कला के विकास की असीम संभावना : कुमार प्रभंजन

इवेंट के क्षेत्र में अग्रणी नेक्सट जेन कंसलटेन्सी के प्रबंध निदेशक कुमार प्रभंजन का कहना है कि प्रदेश में पाटलिपुत्रा महोत्सव जैसे महोत्सव का आयोजन किये जाने से प्रदेश में उद्योग ,कला और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा साथ ही सरकारी राजस्व मे वृद्धि की काफी संभावना होगी। राजधानी पटना के मिलर हाइस्कूल मे 26 दिसंबर से 02 जनवरी तक नेक्स्ट जेन कंसलटेन्सी और जदयू उद्योग प्रकोष्ठ की ओर आठ दिवसीय महोत्सव का आयोजन किया गया था। महोत्सव के दौरान बिहार के उद्यमियों, महिलाओं और युवाओं को सशक्त बनाने के लिए कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। नेक्सट जेन कंसलटेन्सी के प्रबंध निदेशक कुमार प्रभंजन ने कहा कि महिला, युवा और कृषकों साथ ही छोटे और मध्यम उद्यमियों को उभरने का मौका देने राज्य के उद्यमियों को एक मंच प्रदान करने तथा उन्हें प्रोत्साहित करने के मकसद से महोत्सव का आयोजन किया गया।महोत्सव को बिहार सरकार के पर्यटन विभाग , मद्य निषेध विभाग और नगर निगम के स्वच्छ भारत अभियान ने भी सहयोग किया।

 

महोत्सव में 10 स्टार्टअप और नए उद्यमियों के प्रशिक्षण को लेकर भी विशेष आयोजन किये गये।बिहार में ऐसे आयोजनों से उद्योग के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन के साथ-साथ युवाओं को रोजगार और सरकारी राजस्व मे वृद्धि की काफी संभावना है।जब निवेश बढ़ेगा तो स्वतः रोजगार के अवसर युवाओं के लिए बढ़ेगें जिससे युवाओं के पलायन पर रोक लगेगा। इस आयोजन का उद्धेश्य राज्य का विकास के साथ ही राजस्व में वृद्धि भी है। इस तरह के आयोजन से राज्य में उद्योगपतियों को निवेश हेतु आमंत्रित किया जा सा सके। नेक्स्ट जेन कनसलटेन्सी के प्रबंध निदेशक ने बताया कि पाटलिपुत्रा महोत्सव के आयोजन को लेकर युवाओं और कारोबारियों का उत्साह देखते ही बना। महोत्सव में करीब 250 से 300 स्टॉल लगाए गए थे।इनमें बिहार के स्टार्टअप से लेकर, महिला उद्यमियों के स्टॉल, फूड स्टॉल, हैंडलूम स्टॉल एवं विभिन्न उत्पादों के स्टॉल्स शामिल हैं।

 

इन स्टॉल्स पर सभी प्रोडक्ट्स और उनसे जुड़ी जानकारियां भी दी गयी। महोत्सव में बिहार की संस्कृति और लोक कलाओं की झलक यहां देखने को मिली।महोत्सव के दौरान मधुबनी, पेंटिंग, टिकुली आर्ट, मंजूषा कला के आर्ट के स्टॉल ने लोगों को काफी लुभाया। यहां इन लोक कलाओं का प्रशिक्षण भी दिया गया।महोत्सव में थर्मोकॉल से बनी भगवान बुद्ध की प्रतिमा आकर्षण का केंद्र बनी रही।महोत्सव के दौरान कई सामाजिक संगठनों ने नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से दहेज की समाप्ति एवं बेटियों को पढ़ाने का संदेश भी दिया । नेक्स्ट जेन कनसलटेन्सी के ऑपरेशन हेड उत्तम कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की शराबबंदी, बाल विवाह, दहेज प्रथा, स्वच्छता आदि के बारे में लोगों को जागृत करने के लिए नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया।महिला उद्यमियों को बढ़ावा देने के लिए आठ दिवसीय नि:शुल्क प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया गया। पाटलिपुत्रा महोत्सव में लाइव ट्रेनिंग सेशन से लोगों को बिहारी लोकल आर्ट के स्किल्स की ट्रेनिंग दी गयी जिसमें महिलाएं ने हर रोज नए—नए हुनर सीखे।

 

उन्होंने कहा कि नये उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रतिदिन स्टार्टअप ने अपना-अपना प्रजेंटेशन दिया।इसमें चिकित्सा के क्षेत्र में काम कर रही मेदमाला को प्रथम चुना गया। महोत्सव के कला संस्कृति संयोजक सतीश कुमार ने कहा कि बिहार की पावन धरती पर पाटिलपुत्रा महोत्सव जैसे महोत्सव के आयोजन किये जाने से उसका सांस्कृतिक गौरव फिर से लौट सकेगा।महोत्सव की परिकल्पना इस तरह से तैयार की गयी थी जिससे बिहार के सांस्कृतिक गौरव को फिर से वापस लौटाया जा सके। सत्तर के दशक तक बिहार सांस्कृतिक केन्द्र के रूप में जाना जाता था ।

 

हाल के समय में बिहार में कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है। उम्मीद है कि बिहार में इस तरह के महोत्सव के आयोजन किये जाने से बिहार की कला ,एवं संस्कृति को लोगों को करीब से जानने का अवसर मिलेगा।महोत्सव के दौरान रंगकर्मियों द्वारा नुक्कड़ नाटकों की प्रस्तुति की गयी ,इसके अलावा शाम हर दिन भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किये गये। श्री कुमार ने कहा कि महोत्सव के दौरान महोत्सव के दौरान जदयू के विधान पार्षद सह प्रदेश कोषाध्यक्ष डॉ रणवीर नंदन, मिसेज एशिया यूनिवर्सल डा मनीषा रंजन , मिसेज इंडिया ग्लैमरस आरती सिंह ,मिसेज इंडिया सेकेंड रनर अप मोनिका मणि , बॉलीवुड अभिनेता शक्ति कुमार ,सुमित रायचंद , प्रियंका चौहान अभिनेत्री पूनम सिंह राठौर ,अभिनेता राहुल श्रीवास्तव और बहुभाषायी संवाद एजेंसी के प्रेम कुमार मुख्य अतिथी के तौर पर उपस्थित थे जिन्हें बुके ,स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया।महोत्सव के दौरान बिहार की प्रसिद्ध गायिका डॉ नीतू कुमारी नवगीत, भजन गायक हरिशंकर वर्मा , राकेश कुमार , जिज्ञासा ,वगीशा झा ,विनय राय , राहुल राज, विशु बाबा, नायशा टाकिया ,मुकेश कुमार और अजनबी आकाश के द्वारा गाए गए गीतों और भजनों से गुलजार हुआ।

 

रश्मि ने दहेज पर एक बेटी के दर्द पर अपने गायन से लोगों को भाव विभोर कर दिया वहीं अंकित और उनके नृत्य समूह ने आधुनिक नृत्यकला से आये सभी दर्शको को रोमाँचित किया इसके साथ ही दिल्ली के मशहूर दक्ष बैंड ने भी अपनी शानदार उपस्थित से समां बांध दिया। संयोजक ने कहा कि महोत्सव के दौरान मधु मंजरी , मौसम शर्मा , विनय पाठक ,नीता सिन्हा , प्रिया गौतम , रूबी सिंह , नयन जी ,रूबी सिंह , सगुन कृष्णा ,प्रीति गुप्ता ,फिल्मोग्राफी टीम के मनीष कुमार , निश्चल सिन्हा , श्रुति गुप्ता ,अमितेश ठाकुर ,अविनाश मिश्रा और जागृति ,फोटोग्राफर निरंजन कुमार आदि भी उपस्थित रहे।

 

Bhojpuri Media
Contact for Advertisement

Mo.+918084346817

+919430858218

Email :-ankitpiyush073@gmail.com.

bhojpurimedia62@gmail.com

Facebook Page https://www.facebook.com/bhojhpurimedia/

Twitter :- http://@bhojpurimedia62

Google+ https://plus.google.c
m/u/7/110748681324707373730

You Tube https://www.youtube.com/bhojpurimediadotnet

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *