Latest News Politics

महिलाओं के सम्मान में रालोसपा है मैदान में :मधु मंजरी

महिलाओं के सम्मान में रालोसपा है मैदान में :मधु मंजरी

दिनांक 14/12/19 को गाँधी मैदान के गाँधी मूर्ति के पास निकाला गया,। इस “धिक्कार मार्च “में हजारों हजारो की सांख्य में मौजूद महिलाओं के नेतृत्व कर कर रही रालोसपा की महिला प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष मधु मंजरी जी ने बताया कि आज जिस तरह से देश की सरकार बेटियों की लुटती आबरू को नजरअंदाज कर रही उससे लगता है कि हमारी बच्चियां का कोई अस्तित्व नही है हाल ही में बक्सर और दरभंगा में जिस तरह से बच्चियों के साथ कुकर्म किया गया है ,उसपे हमारे नीतीश बाबु जो बेटियों का अपने आप को शुभचिंतक समझते है ,वो आज तक चुप्पी साधे हुए है,इन्हें क्या पता बेटियों का दर्द क्या होता है,इन्हें क्या पता है एक माँ का दर्द क्या होता है,ये हमेशा बिहार को बर्बादी की कगार पे लेके जा रहे है,आज जिस तरह से बिहार में शिक्षा व्यवस्था को चौपट कर दिया है ,उससे लगता है कि हमारी बच्चियां सिर्फ घर में चूल्हा चौकी ही करेगी,नितीस जी सिर्फ साइकिल देने से,पोसाक राशि देने से हमारी बच्चियां शिक्षित नही होगी ,।आज प्रदेश में सिर्फ स्कुलो की चमकती इमारते देखने को मिलती है,।मगर उसकि शिक्षा व्यवस्था कूड़ादान की तरह है,।जब तक बेटीया पढ़ेगी नही तब तक बेटीया बढ़ेंगे नही,।

मधु मंजरी ने आगे बताया कि अगर रेपिस्टों के खिलाफ कोई ठोस काननू जब तक नही बनेगा तब तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा,दरभंगा की घटना को जिक्र करते हुए बतलाती है कि उस 4 साल की मासूम बच्ची का क्या गुनाह था ,उसका तो यही गुनाह था न कि वो एक बेटी घर मे जन्म ली है ,क्या बेटी कुल में जन्म लेना अभिसाप है,उस को दरिंदो नोच नोंच कर अर्धमरे हालात में फेंक दिया आज उस बच्ची का हालात काफी नाजुक DMCH से उसे अब पटना के अपोलो अस्पताल में भर्ती किया गया उसकी हालत बहुत नाजुक है,इस तरह न जाने की कितनी बेटीया का आज हमारे यहाँ बली चढ़ रहा है मगर मौजूद सरकार आँख कान बंद किये हुए मूक दर्शक बनी हुई है ,। मगर हम महिलाएं कभी चुप नही बैठेंगे ,जब तक हमे इंसाफ नही मिलता, महिलाओं के सम्मन में मधु मंजरी उतरी है मैदान में ,ये नारो के साथ पूरा पटना की सरके गूंज रही है


Our Latest E-Magazine

Sponsered By