News

जीकेसी के माध्यम से पाएं वित्तीय सुरक्षा : निष्का रंजन

जीकेसी के वित्तीय सलाहकारों ने बताये शेयर मार्केट में सुरक्षित निवेश के टिप्स
जीकेसी के माध्यम से पाएं वित्तीय सुरक्षा : निष्का रंजन

नौजवानों और महिलाओं को जीकेसी सिखाएगा वित्तीय सुरक्षा पाने का तरीका : निष्का रंजन

पटना/नयी दिल्ली, 24मई ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस (जीकेसी) प्रशिक्षण प्रकोष्ठ :सिद्ध कायस्थ समृद्ध कायस्थ: के तहत शेयर बाजार में निवेश से संबंधित वेबीनार का आयोजन किया गया, जिसमें जिसमें जीकेसी के वित्तीय सलाहकारों ने निवेशकों को शेयर मार्केट में सुरक्षित निवेश के टिप्स बताये।
स्टॉक बाजार में निवेश एवं कारोबार एक रणनीति की बनाने की जरूरत है। अपनी कारोबारी रणनीतियों के माध्यम से सही निवेश का निर्णय लेना बहुत महत्वपूर्ण है। नए लोग अक्सर उच्च जोखिम के साथ उच्च रिटर्न की उम्मीद लगाये अपने शेयर ट्रेडिंग खाते का और अधिक नुकसान कर लेते हैं। हर सफल निवेशक को अपनी निवेश यात्रा में किसी बिंदु पर सलाहकार की जरूरत होती है। आपका वित्तीय सलाहकार आपको सीखने का मार्ग बनाने में मदद कर सकता है और आपको बाजार के उतार–चढ़ाव में से प्रेरित रख सकता है। इसी क्रम में जीकेसी का प्रशिक्षण प्रकोष्ठ : सिद्ध कायस्थ समर्थ कायस्थ : ने वेबीनार के माध्यम से वित्तीय सलाहकारों की मदद से निवेशकों को शेयर मार्केट में सुरक्षित निवेश करने के टिप्स बताये हैं।वित्तीय सलाहकारों में श्रीमती निष्का रंजन, श्री आलोक अविरल, श्री रमन बल्लभ और श्री पुष्कर चित्रवंशी शामिल हैं। वेबीनार का संचालन निष्का रंजन ने किया और साथ ही 50/30/20 रूल के बारे में चर्चा की। डिमैट एकाउंट कैसे खुल सकता है इसके बारे में चर्चा की गयी।

जीकेसी की मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएएफओ) निष्का रंजन ने बताया कि कोविड -19 की वजह से आम जनजीवन और वित्तीय परिस्थियाँ प्रतिकूल हो गई हैं।ग्लोबल कायस्थ कॉन्फेंस की तरफ से एक कोशिश ताकि महापरिवार के सदस्यों को अन्य आय के साधनों से अवगत कराया जा सके।उन्होंने कहा कि मेरा मानना है की यदि हर घर बैठी महिला स्टॉक मार्किट को समझ ले तो वह वित्तीय सुरक्षा पा सकती हैं जो उनके वित्तीय स्वतंत्रता के लिए बहुत महत्वपूर्ण है

डॉ रमन बल्लभ ने वित्तीय निवेश से जुड़ी जानकारियां शेयर करते हुए कहा कि सब को वित्तीय प्लानिंग करनी और लिखनी चाहिय जिससे उनपर फोकस किया जा सके।बजट जरूर बनाना चाहिए और अपनी आमदनी के हिसाब से खर्चे तय करने चाहिए।निवेश की बात पर उन्होंने घर में शादी का उदाहरण देते हुए कहा कि शादी वहीं करनी चाहिए जहाँ आपको जानकारी हो, तो निवेश के लिए भी यही बात लागू होती है। अंत में उन्होंने हर वर्ष अपने वित्तीय प्लान का रिव्यु करने को कहा।
आलोक अविरल जी ने आज की मानसिकता का हवाला देते हुए कहा कि “खर्च पहले बजट बाद में” इस सोच में परिवर्तन लाने की ज़रूरत है। उन्होंने इंटेलीजेंट इन्वेस्टमेंट के बारे में बताया और कहा सारा निवेश एक ही जगह नहीं करना चाहिए।

पुष्कर चित्रवंशी ने स्टॉक मार्केट की बारीकियों से अवगत कराया और निवेश के तरीकों की बात की।अंत में कुछ सवालों के जबाब हमारे पैनलिस्ट ने दिए और सभी ने मिलकर एक और सेशन की माँग रखी।

About the author

Ankit Piyush

Ankit Piyush is the Editor in Chief at BhojpuriMedia. Ankit Piyush loves to Read Book and He also loves to do Social Works. You can Follow him on facebook @ankit.piyush18 or follow him on instagram @ankitpiyush.

2 Comments

Click here to post a comment