Entertainment News trending

टिक टॉक पर हजारों लोगों ने बनाया वीडियो, पत्थर के सनम’ के दो गाना रिलीज होने से पहले ही हुआ वायरल , 

COMMENTS पत्थर के सनम’ का दो गाना रिलीज होने से पहले ही हुआ वायरल , टिक टॉक पर हजारों लोगों ने बनाया वीडियो
COMMENTS पत्थर के सनम’ का दो गाना रिलीज होने से पहले ही हुआ वायरल , टिक टॉक पर हजारों लोगों ने बनाया वीडियो
पत्थर के सनम’ का दो गाना रिलीज होने से पहले ही हुआ वायरल ,  टिक टॉक पर हजारों लोगों ने बनाया वीडियो

युवा दिलों की धड़कन सुपरस्टार अरविन्द अकेला कल्लू के लाजवाब अभिनय से सजी भोजपुरी फिल्म ‘पत्थर के सनम’ का दो गाना टिक टॉक पर काफी वायरल हो रहा है। अभी तक इन गानों पर हजारों लोगों ने वीडियो बनाया है। ये दोनों गाना  अईंठा त बदन, बहका त मन… तथा कहिया ले मम्मी बनइबा है, जिसकी धूम मची हुई है। जबकि यह गाना अभी तक रिलीज नहीं किया गया है। सिर्फ इस फ़िल्म का ट्रेलर सुप्रसिद्ध म्यूजिक कंपनी वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स भोजपुरी के ऑफिसियल सोशल साइट्स से रिलीज किया गया है, जो रिलीज होते ही काफी वायरल हो गया है। ट्रेलर में कल्लू का नया अवतार देखने को मिल रहा है।
उनका परिपक्व अभिनय, रोमांचक स्टंट काफी लाजवाब है। नवोदित अदाकारा यामिनी सिंह भी कमाल की लग रही हैं। कल्लू और यामिनी की यह खूबसूरत जोड़ी परदे पर कमायत ढा रही हैं। खलनायिकी के सिरमौर अवधेश मिश्रा फिल्म के ट्रेलर में कई शेड्स में दिख रहे हैं। देव सिंह, संजय महानंद, प्रेम दूबे ने नायाब अभिनय पेश किया है। यह फिल्म एकदम साफ सुथरी और सम्पूर्ण पारिवारिक है, जिसे हर वर्ग के दर्शक एक साथ बैठकर देख सकते हैं। इस फ़िल्म को लेकर अरविन्द अकेला कल्लू सहित पूरी टीम काफी एक्साइटेड हैं। ऐसा मानना है कि यह फ़िल्म भोजपुरिया दर्शकों के बीच मील का पत्थर साबित होगी। चूंकि हर एंगल से यह फिल्म बेस्ट है। इसे दर्शक अपने परिवार के साथ मिल बैठ कर देख सकते हैं। फ़िल्म के गाने और संवाद बहुत ही मधुर व कर्णप्रिय हैं।
गौरतलब है कि राजघराना फिल्म्स प्रस्तुत भोजपुरी फिल्म ‘पत्थर के सनम’ के निर्माता आदित्य कुमार झा हैं। निर्देशक नीरज रणधीर हैं। सह निर्माता अमित कुमार हैं। कथा, पटकथा व संवाद प्रवीण चन्द्र ने लिखा है। संगीतकार रजनीश मिश्रा व छोटे बाबा बसही तथा गीतकार प्यारेलाल यादव कवि, रजनीश मिश्रा, सुमित सिंह चन्द्रवंशी, इरशाद खान सिकंदर हैं। छायांकन आर आर प्रिंस, नृत्य कानू मुखर्जी, मारधाड़ हीरालाल यादव, कला नागेन्द्र दूबे, संकलन संतोष हरावड़े का है