Entertainment News

Pawan Singh के पुदीना के बाद अब kallu बेचने लगे नेनुआ, कहा – किसानों को नहीं मिल रहा उचित मूल्‍य

पवन सिंह के पुदीना के बाद अब कल्‍लू बेचने लगे नेनुआ, कहा – किसानों को नहीं मिल रहा उचित मूल्‍य
पवन सिंह के पुदीना के बाद अब कल्‍लू बेचने लगे नेनुआ, कहा – किसानों को नहीं मिल रहा उचित मूल्‍य

पवन सिंह के पुदीना के बाद अब कल्‍लू बेचने लगे नेनुआ, कहा – किसानों को नहीं मिल रहा उचित मूल्‍य

युवा दिलों की धड़कन कल्‍लू का गाना ‘लेला नेनुआ – आ –आ’ हुआ वायरल, गाने को 24 घंटे में मिला 5 मिलियन व्‍यूज

भोजपुरी म्‍यूजिक इंडस्‍ट्री इन दिनों हर्बल गाने की ओर चल रहा है। तभी पवन सिंह के पुदीना के बाद अब युवा दिलों की धड़कन माने जाने वाले अरविंद अकेला कल्‍लू नेनुआ बेचते सड़क पर नजर आये हैं। ऐसे में उनका गाना ‘लेला नेनुआ – आ –आ’ रिलीज होने के बाद यह गाना देखते ही, देखते वायरल हो गया। वहीं, अरविंद अकेला कल्‍लू ने इस गाने को लेकर कहते हैं कि लॉक‍डाउन के बाद किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्‍य नहीं मिल रहा है। सब्‍जी उगाने वाले किसान परेशान हैं। खास कर नेनुआ किसानों औन पौने दामों पर बेचने को मजबूर है और ज्‍यादातर लोगों को नेनुआ पता भी नहीं था। लेकिन जब से यह गाना रिलीज हुआ है, तब से नेनुआ के बारे में लोगों को जानकारी भी हुई है और इसका प्रमोशन भी।

इसलिए इस गाने को अब तक 5 मिलियन व्‍यूज मिल चुके हैं। यह गाना वर्ल्‍ड वाइड रिकॉर्ड भोजपुरी के यूट्यूब चैनल से रिलीज हुआ है और इसे युवा दिलों की धड़कन अरविंद अकेला कल्‍लू ने गाया है। इसमें उनका साथ खुशबू तिवारी केटी ने दिया है। इस गाने को अब तक 5,738,555 व्‍यूज मिल चुका है और यह तेजी से वायरल भी हो रहा है। इससे कल्‍लू खूब गदगद हैं। वे कहते हैं कि यह गाना बेहतरीन है। इसको करते समय हमने सोचा नहीं था कि यह गाना इतने कम समय में इतना वायरल हो जायेगा। अपने दर्शकों से मिल रहे प्‍यार और आर्शीवाद से काफी खुश हूं। आप इस गाने को और भी आगे बढ़ाइये, ताकि यह गाना जल्‍द से जल्‍द 10 मिलियन के आंकड़े को पार करे। उन्‍होंने कहा कि गाना ‘लेला नेनुआ – आ –आ’ अश्‍लीलता से परे आम जीवन जिंदगी से जुड़ा गाना है। तभी यह गाना सबों को खूब पसंद भी आ रहा है।

आपको बता दें कि ‘लेला नेनुआ – आ –आ’ में अरविंद अकेला कल्‍लू के साथ नीलम गिरी और प्रियंका रेवड़ी नजर आयी हैं। लिरिक्‍स यादव राज का है। म्‍यूजिक एडीआर आनंद का है। पीआरओ संजय भूषण पटियाला हैं।