News

सालों बाद दर्शकों को फ़िल्म सबरंग में कुछ अलग देखने को मिलेगा…

BHOJPURI MEDIA सालों बाद दर्शकों को फ़िल्म सबरंग में कुछ अलग देखने को मिलेगा… मै आपको बताना चाहूँगा हिन्दी सिनेमा की शुरुआत राजा हरीश चंद्र पर 1913 मे बनी मूक फिल्म से हुई थी।उस दौर मे धार्मिक फिल्मे बनाई जाती थी क्योंकि देश की जनता यही देखना चाहती थी।यही वजह थी की उस समय नैतिकता […]

BHOJPURI MEDIA

सालों बाद दर्शकों को फ़िल्म सबरंग में कुछ अलग देखने को मिलेगा

मै आपको बताना चाहूँगा हिन्दी सिनेमा की शुरुआत राजा हरीश चंद्र पर 1913 मे बनी मूक फिल्म से हुई थी।उस दौर मे धार्मिक फिल्मे बनाई जाती थी क्योंकि देश की जनता यही देखना चाहती थी।यही वजह थी की उस समय नैतिकता और धर्म कर्म का भी बोल बाला था। फिर कुछ सालों बाद ऐतिहासिक फिल्मे भी बनी जिससे दर्शकों ने बेहद पसंद किया था , इस दरमियान मुगले आजम ने नया कीर्तिमान स्थापित किया था। क्योंकि जब हिन्दी सिनेमा बनाना शुरू हुआ था उस समय देश अंग्रेज़ों का गुलाम था इसलिए देश भक्ति फिल्मे बनाना ख़तरे से खाली नहीं था।

 

परंतु आजादी के बाद देश के कुछ फ़िल्म मेक्रो ने देशभक्ति फिल्मे भी बनाई जिसमे मनोज कुमार जी का नाम सबसे ऊपर है,मनोज कुमार जी के इस अभिनय के लिए लोगो ने मनोज कुमार को भारत कुमार उपनाम दे दिया था। पिछले कुछ दशको मे तो बहुत सी देश पर आधारित फिल्मे बनई और खूब चली भी।उसके बाद सामाजिक विषयों पर बनने वाली फिल्मों का दौर आया था । यूँ तो यदा कदा समाज सुधारको और विचारको पर भी धार्मिक और ऐतिहासिक फिल्मों के दौर पर भी फिल्मे बनती रहती थी, पर उसका नायक पूर्व स्थापित समाज सुधारक और विचारक का ही रोल निभाता था।

 

अगला दौर था रोमांटिक फिल्मों का, पर एक बात आपको बताना चाहूँगा की इन फिल्मों मे भी कुछ न कुछ सामाजिक संदेश जरूर होता था। इस दौर ने देश की जनता के ऊपर, उनकी सोच मे बदलाव के लिए क्रांति कारी काम किया। जो बड़े बड़े विचारक, समाज सुधारक नहीं कर सके वह काम इन फिल्मों ने कर दिखाया। जिससे देश के नौजवान बहुत प्रभावित हुए थे ,जैसे उदाहरण के लिये मैं आपको “कटी पतंग” फ़िल्म के बारे में बताना चाहूँगा कटी पतंग एक रोमांटिक फिल्म थी, जिसके हीरो सुपर स्टार राजेश खन्ना जि थे जिनका रोमांटिक हीरो के रूप मे कोई जबाब नहीं था। पर कहानी का मूल विधवा विवाह ही था ।

 

अब मैं बात कर रहा हूँ फ़िल्म सबरंग की जिसमें एक नई कहानी है जो देश के युवाओं को और समाज को बदलने की कोसिस करेगी । फ़िल्म सबरंग के निर्देशक निरंजन भारती ने फ़िल्म सबरंग में यह दिखाने का कोसिस किया है की अगर आप युवा है, आप में प्रतिभा है और आप कुछ करने की छमता रखते हैं तो इसके लिये आपको कही भटकने या विदेशों में जाकर काम करने की जरुरत नहीं है ।आप अपने प्रतिभा को अपने देश में ही दिखाए और देश वियापि पहचान बनाकर देश का नाम रौशन करें एवम आने वाले जनरेशन के लिये प्रेरणा श्रोत बने ।

 

Bhojpuri Media

( Bihar )

Contact for Advertisement

Mo.08084346817

09430858218

office :- 06212252458

Email :-ankitpiyush073@gmail.com.

bhojpurimedia62@gmail.com

Facebook :-https://www.facebook.com/bhojhpurimedia/?ref=aymt_homepage_panel

Twitter :- http://@bhojpurimedia62

Google+ https://plus.google.c

m/u/7/110748681324707373730

You Tube https://www.youtube.com/channel/UC8otkEHi1k9mv8KnU7Pbs7

About the author

martin

Add Comment

Click here to post a comment