Uncategorized

जय गंगाजल की टीम पटना में

फिल्म ‘जय गंगाजल’ के प्रमोशन को पटना आए फिल्म निर्माता व निर्देशक प्रकाश झा पी एंड मॉल में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि फिल्म जय गंगाजल 2003 में आई फिल्म गंगाजल का सीक्वल नहीं है। यह फिल्म सत्ता और ब्यूरोक्रेसी के बीच के नेक्सेस पर आधारित है। श्री झा ने कहा कि फिल्म में […]

maxresdefaultn
फिल्म ‘जय गंगाजल’ के प्रमोशन को पटना आए फिल्म निर्माता व निर्देशक प्रकाश झा पी एंड मॉल में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि फिल्म जय गंगाजल 2003 में आई फिल्म गंगाजल का सीक्वल नहीं है। यह फिल्म सत्ता और ब्यूरोक्रेसी के बीच के नेक्सेस पर आधारित है। श्री झा ने कहा कि फिल्म में कहानी महिला एसपी आभा माथुर (प्रियंका चोपड़ा) कमजोर समझ कर पोस्टिंग की जाती है, लेकिन सत्ता के लोगों को इसका दांव तब उलटा पड़ जाता है, जब वो सिस्टम की खामियों को दुरूस्त करने में लग जाती हैं। फिल्म के ट्रेलर में बांकीपुर विधान सभा नाम के प्रयोग पर श्री झा ने कहा कि यह महज एक संयोग है। इतना ही नहीं, फिल्म में बांकीपुर के लखीसराय की घटना है। यह जान बूझ कर नहीं किया गया है, लेकिन फिर भी अगर कोई आहत होता है, या किसी की भावना को ठेंस पहुंचती है, तो मैं उनसे विनम्रता पूर्वक माफी मांगता हूं।

12651240_949993341716161_5866495263858522668_n

फिल्म में पहली बार बतौर अपने अभिनता की भूमिका पर श्री झा ने कहा कि में अपने जीवन की कलात्मक यात्रा के पड़ाव में नया चाइलेंज तलाश रहा था। स्क्रीप्ट लिखते समय मुझे लगा कि डीएसपी बी एन सिंह का किरदार को मैं बखूबी जानता हूं। इसलिए मैंने अभिनय को जीया। उन्होंने कहा कि सूटिंग के दौरान उन्होंने कई बार अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा से भी अपने अभिनय के बारे में पूछा।

वहीं, फिल्म में बतौर खलनायक नजर आने वाले अभिनेता मानव कौल ने कहा कि वे पटना पहली बार आए हैं। कौल ने कहा कि पटना में बहुत मजा आया। लिट्टी चोखा खाने को मौका मिला। फिल्म के बारे में कौल ने कहा कि वे गंगाजल के पहले से ही मुरीद थे। इसलिए जय गंगाजल से जुड़ना उनकी खुशकिस्मती थी।

About the author

martin

2 Comments

Click here to post a comment