Entertainment News

पार्श्वगायन के क्षेत्र में विशिष्ट पहचान बना चुकी है स्नेह उपाध्याय

पार्श्वगायन के क्षेत्र में विशिष्ट पहचान बना चुकी है स्नेह उपाध्याय

बिहार में समस्तीपुर जिले में जन्मीं स्नेह उपाध्याय के पिता चंद्र प्रकाश उपाध्याय और मां श्रीमती पूनम उपाध्याय ने घर की लाडली छोटी बेटी स्नेह को अपनी राह खुद चुनने की आजादी दे रखी थी। स्नेह को संगीत का माहौल घर में मिला।उनके पिता को संगीत में गहरी रूचि थी। स्नेह जब वह महज चार वर्ष की थी तब वह संगीत की शिक्षा अरूण पोद्दार से हासिल करने लगी।इसके बाद उन्होंने गजल गायक मजीद हसन से भी संगीत की शिक्षा हासिल की।

 

स्वर कोकिला लता मंगेश्कर ,मशहूर गायिका अलका याज्ञनिक को अपना आदर्श मानने वाली स्नेह स्कूल में होने वाले कार्यक्रम में शिरकत किया करती जिसके लिये उन्हें प्रशंसा मिला करती। स्नेह उपाध्याय ने प्रयाग संगीत समिति इलाहाबाद से संगीत के क्षेत्र में कोर्स भास्कर पूरा किया है। इस बीच उन्होंने समस्तीपुर वुमेन्स कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई पूरी की। वर्ष 2011 में स्नेह उपाध्याय ने एक सिंगिंग कम्पटीशन में हिस्सा लिया जिसमें वह ‘बिहार आइडल’ चुनी गयी। वर्ष 2013 में उन्होंने महुआ टीवी पर प्रसारित कार्यक्रम सुर संग्राम में हिस्सा लिया जिसमें वह टॉप 12 में चुनी गयी। इसके बाद स्नेह ने सारेगामापा रंग पुरवैया में शिरकत की जिसमें वह टॉप 8 में शामिल रही। इस कार्यक्रम में उन्हें कुमार शानू के द्वारा ‘फ्रेश वाइस ऑफ़ इण्डिया’ का अवार्ड भी मिला।

 

इसके बाद स्नेह उपाध्याय ने वर्ष 2017 में अपना यूटयूब चैनल स्नेह उपाध्याय ऑफिसियल लांच किया जिसके तहत उन्होंने मेरे होठों पे ,निक लागे टिकुलिया गोरखपुर के समेत कई अलबमों में पार्श्वायन तथा अभिनय से लोगों का दिल जीत लिया। इन सबके बीच जी म्यूजिक भोजपुरी पर स्नेह उपाध्याय का गाया गीत सजना पटना निकल गया काफी लोकप्रिय हुआ। हाल ही में स्नेह उपाध्याय और रितेश पांडे की जोड़ी से सजा गीत हैलो कौन रिलीज हुआ है जिसने धूम मचा दी है। स्नेह उपाध्याय को उनके अबतक के करियर में मान-सम्मान भी खूब मिला। वह चंपारण रत्न,संगीत रत्न ,मां सरस्वती सम्मान ,सितारा देवी सम्मान समेत कई सम्मान से अंलकृत की जा चुकी है।

 

स्नेह उपाध्याय ने लखनऊ महोत्सव, वनावर महोत्सव ,कुशीनगर महोत्सव ,मोती झील महोत्सव ,देव दीवाली महोत्सव और गंगा महोत्सव समेत कई महोत्सव में शिरकत की है। स्नेह उपाध्याय का कहना है कि वह भोजपुरी संगीत को बढ़ावा देने की दिशा में काम कर रही हैं। उन्होंने बताया कि उन्होंने भोजपुरी सुपरहिट गीत कौन दिशा में लेके चला रे बटोहिया को अपने अंदाज में फोक संगीत के माध्यम से रीमिक्स किया है। उन्होंने बॉक्स ऑफिस 9 के डायरेक्टर रिंकू सिंह की तारीफ करते हुए कहा कि वह भोजपुरी माटी से जुड़े हुए इंसान हैं और भोजपुरी कलाकारों को बढ़ावा देने की दिशा में काम कर रहे है!स्नेह पार्श्वगायन के क्षेत्र में विशिष्ट पहचान बना चुकी है। स्नेह अपनी सफलता का श्रेय मां श्रीमती पूनम उपाध्याय के साथ ही अपने बड़े भाई और शुभचितंको को देती है जिन्होंने उन्हें हर कदम सपोर्ट किया है।


Our Latest E-Magazine

Sponsered By