Entertainment

प्रेमचंद रंगशाला शुरू हुआ दो दिवसीय बिहार – एक विरासत : कला और फिल्म महोत्सव 2019

प्रेमचंद रंगशाला शुरू हुआ दो दिवसीय बिहार - एक विरासत : कला और फिल्म महोत्सव 2019
प्रेमचंद रंगशाला शुरू हुआ दो दिवसीय बिहार - एक विरासत : कला और फिल्म महोत्सव 2019

प्रेमचंद रंगशाला शुरू हुआ दो दिवसीय बिहार – एक विरासत : कला और फिल्म महोत्सव 2019

 

पटना, 19 अक्टूबर 2019: ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन के द्वारा दो दिवसीय बिहार – एक विरासत : कला और फिल्म महोत्सव 2019 का शुभारंभ आज राजधानी पटना के राजेंद्र नगर स्थित प्रेमचंद रंगशाला में हुआ, जिसका विधिवत उद्धाटन दीप प्रज्‍ज्वलित कर पद्म विभूषण सह राज्‍य सभा सांसद डॉ. सोनल मान सिंह, फिल्मफेयर और आईफा अवार्ड से सम्मानित बॉलीवुड गीतकार श्री इरशाद कामिल के उपस्थिति में हुआ। इस दौरान डॉ. सोनल मान सिंह ने बिहार – एक विरासत : कला और फिल्म महोत्सव 2019 के आयोजन के लिए अखिल भारतीय आईएसओ प्रमाणित और लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स अवार्ड से सम्मानित गैर सरकारी संगठन ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन को धन्‍यवाद कहा। उन्‍होंने बिहार की सांस्‍कृतिक विरासत की चर्चा करते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रम से पाटिलपुत्र व बिहार की भव्‍यता और सांस्कृतिक विरासत फिर से उजागर हो रही है और इसकी लौ जलती रहे, यही मेरी शुभकामनाएं हैं।

वहीं, बॉलीवुड गीतकार श्री इरशाद कामिल ने कहा कि मैं दूसरी बार पटना आया हूँ, जहां मुझे यह एहसास हो रहा है कि यहां साहित्य, कला, संस्कृति और संगीत की विरासत पर विमर्श गहरा है। जो साहित्य, कला, संस्कृति और संगीत की विरासत सम्मान करते हैं, वो बीते कल का सम्मान कर वर्तमान का निर्माण करते हैं और भविष्य को धरोहर दे रहे हैं। यह बड़ी बात है। उन्‍होंने डॉ. सोनल मान सिंह के साथ स्टेज शेयर करने की बात को अपने लिए से सम्‍मान की बात बताया और उनसे आशीर्वाद भी लिया। इनके अलावा उनके अलावा महोत्सव में पद्म श्री डॉ. जे के सिंह, डॉ. अजीत प्रधान, डॉ. शांति जैन, श्री आर एन दास, श्री दीपक आनंद ने भी उद्घाटन सत्र को संबोधित किया।

कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में भारतीय प्रशासिनक सेवा के अधिकार श्री गंगा कुमार ने तमाम आगत अतिथियों का स्‍वागत किया और स्‍नेह फाउंडेशन की सेतु कुमारी ने वोट ऑफ थैंक्‍स कहा। कार्यक्रम का संचालन बिहार संगीत नाटक अकादमी के सचिव श्री विनोद अनुपम ने किया। इससे पहले कार्यक्रम की शुरूआत उत्‍साह बिहार लोक संगीत प्रतियोगिता के साथ शुरू हुआ। इसमें बिहार के विभिन्‍न जिलों के संगीत समूहों और बैडों ने बिहार की भाषाओं और बोलचाल में अपनी मौलिक रचना का जीवंत प्रदर्शन किया।

गौरतलब है कि यह आयोजन ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन (www.grameensnehfoundation) एक अखिल भारतीय आईएसओ प्रमाणित और लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स अवार्ड से सम्मानित गैर सरकारी संगठन है, जो इस साल भी कला और फिल्म महोत्सव 2019 का आयोजन कर रही है। महोत्सव के दूसरे दिन निबंध, चित्रकला और लोक नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन किया जायगा, जिसमें बिहार के सभी नौ प्रमंडलों के विजेता अपने-अपने क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा करेंगे। क्षेत्रीय लघु फिल्म प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा और जूरी द्वारा सर्वश्रेष्ठ फिल्म घोषित की जाएगी। फिल्म सुपर 30 की स्क्रीनिंग की जाएगी और फिल्म में काम करने वाले लड़कों और लड़कियों को सम्मानित किया जाएगा। कला और फिल्म महोत्सव के समापन में पुरस्कार समारोह होगा जहां हर श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को सम्मानित किया जाएगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top